Rain Status Quotes for Whatsapp in Hindi

Yesterday I have posted an article about rain Whatsapp status quotes in English and get a great response about that article. So today I am sharing more Whatsapp status quotes about rain in Hindi language.

Rainy weather is very unique because it touch your feelings deeply. People lost in their past memories in rainy weather. Some people love to remember their good times while some people become sad in rainy weather. Many of my readers who read my rainy quotes yesterday asked me to post some quotes about rain in English

Rainy Whatsapp Status Quotes in Hindi

We brings you a huge list of Best rainy quotes for Whatsapp in Hindi language. Scroll down for best 50 unique and Amazing rainy Whatsapp status quotes in Hindi language.

“पूछते हो ना मुझसे तुम हमेशा की मे कितना प्यार करता हू, तुम्हे तो गिन लो बरसती हुई इन बूँदो को तुम ।”

“खयालों मे वही, सपनो मे वही, लेकीन उनकी यादों मे हम थे ही नही, हम जागते रहे दूनिया सोती रही, एक बारिश ही थी, जो हमारे साथ रोती रही ।”

“मुझे मार ही ना डाले इन बादलों की साज़िश, ये जब से बरस रहे हैं तुम याद आ रहे हो ।”

“तेरा साथ हे तो मुझे क्या कमी हे, तेरी हर मुस्कान से मिली मुझे ख़ुशी हे, मुस्कुराते रहना इसी तरह हमेशा, क्यों की तेरी इसी मुस्कान में मेरी जान बसी हे ।”

“क्या मौसम आया है, हर तरफ पानी ही पानी लाया है, एक जादू सा छाया है, तुम घरसे बहार मत निकलना वरना लोग कहेंगे बरसात हुई नहीं, और मेंढक निकल आया है ।”

“छत टपकती है उसके कच्चे घर की, वो किसान फिर भी बारिश की दुआ करता है ।”

“अब जितना बरसना है, बरसले ए बारिश वो चला गया है, जिसके साथ मे तुम्हारे इस तोहफे को सीने से लगा लिया करता था ।”

“मोसम हे बारिश का ओर याद तुम्हारी आती है, बारिश के हर कतरे से आवाज़ तुम्हारी आती है ।”

“पता नही ऐसा क्या हे इस बारिश, मे जितनी ज़्यादा बरस रही है, उतना ही तुम याद आ रहे हो ।”

“भीगे मौसम की भीगीसी शुरुआत, भीगीसी याद भूली हुई बात, वो भीगीसी आँखे वो भीगा हुआ साथ, मुबारक हो आपको आज की खूबसूरत बरसात ।”

“तेरी गलियों में ना रखेंगे कदम आज के बाद क्योंकि, किचड़ हो गया है, बरसात के बाद ।”

“एक ख्वाब ने आँखे खोली हैं, क्या मोड़ आया है, कहानी में वो भीग रही थी बारिश में और आग लगी है, पानी में ।”.

“पहन लो तुम ‘रेन कोर्ट’ तुमसे यही है, हमारी गुज़ारिश, मुबारक हो आप सबको सर्दी की पहली बारिश ।”

“जब बारिश होती है, तुम याद आते हो, जब काली घटा छाए, तुम याद आते हो, जब भीगते है तुम याद आते हो, बताओ मेरी छतरी कब वापिस करोगे ।”

“सुना है बारिश में दुआ क़बूल होती है, अगर हो इज्जाजत तो मांग लू तुम्हे ?”

“पूछते हो ना मुझसे तुम हमेशा की मे कितना प्यार करता हू, तुम्हे तो गिन लो बरसती हुई इन बूँदो को तुम ।”

“कहीं फिसल न जाऊं तेरे ख्यालों में चलते चलते अपनी यादों को रोको मेरे शहर में बारिश हो रही है ।”

“कहीं फिसल ना जाओ ज़रा संभल के रहना, मौसम बारिश का भी है, और मुहब्बत का भी ।”

“बारिश के पानी को अपने हाथों में समेट लो, जितना आप समेट पाये उतना आप हमें चाहते है, और जितना न समेट पाए उतना हम आप को चाहते है ।”

“ईस बरसात में हम भीग जायेंगे, दिल में तमन्ना के फूल खिल जायेंगे, अगर दिल करे मिलने को तो याद करना बरसात बनकर बरस जायेंगे ।”

“आसमान में काली घटा छायी है, आज फिर गर्लफ्रेंड ने 2 बातें सुनाई है, दिल तो करता है सुधर जाऊं मगर, बाजूवाली आज फिर भीग के आई है, हैप्पी मानसून ।”

“पहली बारिश का नशा ही कुछ अलग होता हैं, पलकों को छुते ही सीधा दिल पे असर होता हैं, महका महका सावन आज इस दिल को बहका रहा हैं, गुमसुम सी नजरो को आज ये प्यार करना सिखा रहा हैं. हैप्पी मानसून ।”

“हवा भी रूक जाती है, कहने को कुछ तराने, बारिश की बूंदे भी उसे छूने को करती है, बहाने ।”

“न जाने क्यू अभी आपकी याद आ गयी, मौसम क्या बदला बरसात भी आ गयी, मैंने छुकर देखा बूंदों को तो, हर बूंद में आपकी तस्वीर नज़र आ गयी ।”

“सभी लोग अचानक से बारीश होने के कारण आश्चर्य चकित हो चुके है, परंतु सभी को में यह बताना चाहता हूँ की, हमारे सुपर हिरो रजनीकान्त होली के लिए उनकी पिचकारी टेस्ट कर रहे हैं ।”

“मैंने उस से पुछा क्या धुप मे बारिश होती है, ये सुन कर वो हँसने लगी, और हँसते हँसते रोने लगी, फिर धुप में बारिश होने लगी ।”

“मोसम हे बारिश का ओर याद तुम्हारी आती है, बारिश के हर कतरे से आवाज़ तुम्हारी आती है ।”

“ए बारिश बरस बरस ओर बरस आज तो तू उसकी यादो को बहा कर ही ले जा ।”

“बारिश की बूँदों में झलकती है, तस्वीर उनकी‎ और हम उनसे मिलनें की चाहत में भीग जाते हैं ।”

“पूछते हो ना मुझसे तुम हमेशा की मे कितना प्यार करता हू, तुम्हे तो गिन लो बरसती हुई इन बूँदो को तुम ।”

“रिम झिम रिम झिम बरस रही है, याद तुम्हारी कतरा कतरा ।”

“ये हुस्न ए मौसम, ये बारिश, ये हवाएं, लगता है, मोहब्बत ने आज किसी का साथ दिया है ।”

“बस एक छोटी सी दुआ है, जिन लम्हों में आप मुस्कुराते हो, वो लम्हे कभी ख़त्म ना हो ।”

“कितना अधूरा लगता है, तब जब बादल हो पर बारिश ना हो, जब जिंदगी हो पर प्यार ना हो, जब आँखे हो पर ख्वाब ना हो, और जब कोई अपना हो पर साथ ना हो ।”

“अजीब तमाशा हुआ जब वो सामने आयें हर शिकायत ने जैसे खुदखुशी कर ली ।”

“मैंने कहा तुम्हारी हँसी उधार चाहिये. वो बोली मुस्कान ही दे सकती हूँ हँसी तो खुद उधार  लाती हूँ तुम्हारे लिये ।”

“इतना तो किसी ने चाहा भी न होगा, जितना मैंने सिर्फ सोचा है, तुम्हें ।”

“अगर भीगने का इतना ही शौक है, बारिश मे तो देखो ना मेरी आँखों मे, बारिश तो हर एक के लिए होती है, लेकिन ये आँखें सिर्फ तुम्हारे लिए बरसती है ।”

“नज़र नज़र का फर्क है, हुस्न का नहीं, महबूब जिसका भी हो बेमिसाल होता है ।”

“वो ज़िंदगी ही क्या जिसमे मोहब्बत नही, वो मोहबत ही क्या जिसमे यादें नही, वो यादें क्या जिसमे तुम नही, और वो तुम ही क्या जिसके साथ हम नही ।”

“नज़र ने नज़र से मुलाक़ात कर ली, रहे दोनों खामोश पर बात करली, मोहब्बत की फिजा को जब खुश पाया, इन आंखों ने रो रो के बरसात कर ली ।”

“ऐ बारिश ज़रा थमके बरस, जब मेरे यार आ जाये तो जमके बरस, पहले न बरस की वह आ न सके, फिर ईतना बरस की वो जा न सके ।”

“गिरा दे जितना पानी है तेरे पास ऐ बादल, ये प्यास किसी के मिलने से बुझेगी तेरे बरसने से नही ।”

“मिलने को तो मिलते है दुनिया में कई चेहरे पर तुम सी मोहब्बत हम खुद से भी न कर पाए ।”

“आज भीगी है पलके किसी की याद मे, बादल भी सिमट गए है अपने आप मे, बारिश की बूँदे ऐसी गिरी है जमीन पर, मानो चाँद भी रोया हो उसकी याद मे ।”

“सुनो बेताब कर गयी हमें तेरी जादु भरी नजर, हम तो तेरे देखनें की अदा देखते रहे गये ।”

“आँखे भी पढ़ लेती हैं मोहब्बत की हरकत को, हर बार शब्दों में प्यार बयान करना जरुरी नहीं होता ।”

“यूँ सामने आकर ना बैठो, सब्र तो सब्र है, हर बार नही होता ।”

“ये बादल ये बिजली सिर्फ आपके लिए है, ये मौसम ये हवा सिर्फ आपके लिए है, कितने दिन बीते आपको नहाये हुए, ये बेवक़्त बारिश सिर्फ आपके लिए है ।”

“गुंडे थे हम, हमारी जिस बंदूक से लोग डरते थे उसी से, पगली ने सीधा दिल पे Encounter कर दिया ।”

More Amazing Rainy Day Whatsapp Status Quotes in Hindi

Our unique article about rainy Whatsapp status in Hindi is not yet over. Scroll down for more 50 amazing Hindi quotes about rainy Whatsapp status. If you like this article than don’t forget to share it with your friends and family on your social profiles.

“होता अगर मुमकिन, तुझे साँस बनाकर सीने में रखते, तू रुक जाये तो मैं नहीं,और मैं मर जाउँ तो तू नहीं ।”

“बारिश और महोबत दोनों ही यादगार होते हे, बारिश में जिस्म भीगता हैं, और महोबत मैं आँखे ।”

“आज कुछ और नहीं बस इतना सुनो मौसम हसीन है, लेकिन तुम जैसा नहीं ।”

“दुनिया एक तरफ और तू एक तरफ क्योंकि. तू मेरी परी है और ये दुनिया बोहोत बुरी है ।”

“हाथों की लकीरों मैं तुम हो ना हो, जिदंगी भर दिल में जरूर र होगे ।”

“क्या तमाशा लगा रखा है, तूने ए-बारिश बरसना ही हे, तो जम के बरस वैसे भी इतनी रिमझिम तो मेरी आँखो से रोज हुआ करती है ।”

“नकाब तो उनका सर से ले कर पांव तक था, मगर आँखे बता रही थी के मोहब्बत के शौकीन थे वो ।”

“मजबूरियॉ ओढ के निकलता हूं घर से आजकल, वरना शौक तो आज भी है बारिशों में भीगनें का ।”

“एक हम हैं जो इश्क़ कि बारिश करते है, एक वह हैं जो भीगने को तैयार ही नहीं ।”

“मौसम भी है सुहाना, बारिश भी हो रही है, बस एक कमी है जाना, तेरी याद आ रही है, रिम जिम बरसती बारिश, टीम टीम टपकता पानी, ये शोर कह रहा है, बस एक कमी है जाना, तेरी याद आ रही है, तेरी याद आ रही है ।”

“बारिश की बूँदों में झलकती है, तस्वीर उनकी‎ और हम उनसे मिलनें की चाहत में भीग जाते हैं ।”

“आज तो बोहोत खुश हो गए आप? क्योकि, बारिश जो हो रही है, और बारिश मैं तो, सभी मेंडक खुश होते हैं, हैप्पी मानसून 2016 ।”

“तुझे ख़्वाबों में पाकर दिल का क़रार खो ही जाता है, मैं जितना रोकूँ ख़ुद को तुझसे प्यार हो ही जाता है ।”

“बहुत दिनों से थी ये आसमान की साजिश, आज पुरी हुई उनकी ख्वाहिश, भीग लो अपनों को याद कर के, मुबारक हो आपको साल की ये पहली बारिश ।”

“चाहत के ये कैसे अफसाने हुए खुद नजरोमे अपनी बेगाने हुए किसीभी रिस्ते का खयाल नहीं मुजे इश्क़ मे तेरे इस कदर दीवाने हुए ।”

“इश्क की गहराईयों में खूबसूरत क्या है, मैं हूँ, तुम हो और कुछ की ज़रुरत क्या है ।”

“मुझको फिर वही सुहाना नज़ारा मिल गया, नज़रों को जो दीदार तुम्हारा मिल गया, और किसी चीज़ की तमन्ना क्यूँ करू, जब मुझे तेरी बाहों में सहारा मिल गया ।”

“कहाँ रखूं मैं शीशे सा दिल अपना. हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता है ।”

“मौसम है बारिश का और याद तुम्हारी आती है, बारिश के हर क़तरे से आवाज तुम्हारी आती है, जब तेज हवाएं चलती है तो जान हमारी जाती है, मौसम है कातिल बारिश का और याद तुम्हारी आती है ।”

“तुम आँखो की पलकों सी हो गई हो, के मिले बिना सुकून ही नही आता ।”

“उलफत का अकसर यही दस्तूर होता है, जिसे चाहो वही दूर होता है. दिल टुट कर बिखरते हैं इस कदर, जैसे कोई काँच का खिलोना चूर चूर होता है ।”

“काश आप जिनको चाहते हो उनसे मुलाकात हो जाये, ज़ुबान से न सही आँखों से बात हो जाये, आप का हाथ उनके हाथ में हो, और रिमझिम सी बरसात हो जाये ।”

“बारिश मेरे दिल में किसी की याद दिलाती है ।”

“बादलों को आता देख के मुस्कुरा लिया होगा, कुछ न कुछ मस्ती में गुनगुना लिया होगा, ऊपर वाले का शुक्र अदा किया बारिश के होने से, के इस बहाने तुमने नहा लिया होगा ।”

“हवा भी रूक जाती है, कहने को कुछ तराने, बारिश की बूंदे भी उसे छूने को करती है, बहाने ।”

“गर मेरी चाहतों के मुताबिक, जमाने में हर बात होती, तो बस मैं होता वो होती, और सारी रात बरसात होती ।”

“बेसन की रोटी, निम्बू का अचार, दोस्तों की ख़ुशी, अपनों का प्यार, सावन की रैन, किसी का इंतज़ार, मुबारक हो आपको, बारिश की बहार, हैप्पी रैनी डे ।”

“आज बारिश में तुम्हारे संग नहाना है, सपना ये मेरा कितना सुहाना है, बारिश के कतरे जो तेरे होंठों पे गिरे, उन कतरों को अपने होंठों से उठाना है ।”

“इस बारिश के मौसम में अजीब सी कशिश है, ना चाहते हुए भी कोई शिद्दत से याद आता है ।”

“एक ख्वाब ने आँखे खोली हैं, क्या मोड़ आया है, कहानी में वो भीग रही थी बारिश में और आग लगी है, पानी में ।”

“जब जब गरजते हे ये बादल मेरे दिल की धड़कन बढ़ जाती है, ओर मेरे दिल की हर एक धड़कन से आवाज़ आती है ।”

“तपिश और बढ़ गई इन चंद बूंदों के बाद, काले सियाह बादल ने भी बस यूँ ही बहलाया मुझे ।”

“मोसम हे बारिश का ओर याद तुम्हारी आती है ।”

“भीगेँगे जो किसी रोज हम मोहब्बत की ‘बरसात’ में फिर ‘कमज़ोर’ से इस दिल को इश्क का ‘बुखार’ पक्का है ।”

“अब के सावन मे पानी बरसा बहुत, पानी की हर बूँद मे वह आये याद बहुत, इस सुहाने मौसम मे साथ नही था कोई, बादलों के साथ इन आँखों से पानी बहा बहुत ।”

“आज कुछ और नहीं बस इतना सुनो, मौसम हसीन है, लेकिन तुम जैसा नहीं ।”

“कुछ लोगों का दिल जीत लिया आकर इस बरसात ने, और कुछ इस सोच में डूबे हैं, की आज वो सोयेंगे कहाँ ।”

“वो बोली I Hate You मेरी कसम खाकर बोलने को कहा तो पगली रोने लग गयी ।”

“गर मेरी चाहतों के मुताबिक, जमाने में हर बात होती, तो बस मैं होता वो होती, और सारी रात बरसात होती ।”

“पानी की बूंदे फूलों को भिगा रही हैं, ठंडी लहरे एक ताज़गी जगा रही हैं, हो जायें आप भी इनमें शामिल, एक प्यारी सी सुबह आपको जगा रही है ।”

“खूब हौसला बढ़ाया आँधियों ने धूल का, मगर दो बूँद बारिश ने औकात बता दी ।”

“हर मुलाकात को याद हम करतें हैं, कभी चाहत कभी जुदाई कि आह भरते है, यूं तो रोज़ तुम से सपनो मे बात करते हैं पर, फिर से अगली मुलाकात का इन्तज़ार करते है ।”

“भीगी मौसम की भीगी सी रात, भीगी सी याद, भुली हुई बात, भुला हुआ वक्त, वो भीगी सी आँखें, वो बीता हुआ साथ, मुबारक हो आप को साल की पहली बरसात ।”

“आज दिन भर बारिश होने की संभावना है, कृपया अपने दिमाग वाली जगह को प्लास्टिक से ढक लो, क्योकि खाली जगहों में पानी जल्दी भरता है ।”

“बारिश के हर कतरे से आवाज़ तुम्हारी आती है ।”

“तब्दीली जब भी आती है मौसम की अदाओं में, किसी का यूँ बदल जाना, बहुत याद आता है ।”

“बादलों से कह दो, जरा सोच समझ कर बरसे, अगर मुझे उनकी याद आ गयी, तो मुकाबला बराबरी का होगा ।”

“दुआ बारिश की करते हो मगर छतरी नहीं रखते, भरोसा है, नहीं तुमको खुदा पर क्या जरा सा भी ।”

“आज बारिश हो रही है ।”

“दुआ बारिश की करते हो मगर छतरी नहीं रखते, भरोसा है नहीं तुमको खुदा पर क्या जरा सा भी ।”

Comments are closed.